बता तूने क्या पाया मन

3D Wallpaper Hd Rose wallpaper

बता तूने क्या पाया मन
--------------------------------
बाँच कर अपने हृदय को
चिट्ठियों कि तरह
एक- एक लम्हा बे -साया
कर दिया
बंधे थे भाव अंतस में कही
 उन्हें कह दिया
रीते मन कि बात क्या
समझाती तुम्हें
अपने सपनों का दहन
स्वयं कर दिया
राख को कुरेद कर क्या
 रख दिया
 दहकती आग कि चिंगारी
 बाकी है
अभी मरना यही जीना
बाकी है
बात अपनी कह कर तूने
क्या पा लिया
बता तूने क्या पाया मन
मौन रह कह दिया

आराधना राय "अरु"

Comments

Post a Comment

Popular posts from this blog

अतुकांत कविता

अश्रु